खुलासा: केबिन में स्मोकिंग कर रहा था पायलट, इसलिए हुआ था काठमांडू हादसा

SHARES
Share on FacebookShareTweet on TwitterTweet

Nepal US Bangla Kathmandu Plane Crash मार्च 2018 को नेपाल में हुए विमान हादसे को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है. जांच रिपोर्ट के मुताबिक, पायलट और क्रू मेंबर की चूक के कारण ये हादसा हुआ था.

बीते साल नेपाल की राजधानी काठमांडू में हुए विमान हादसे को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है. सामने आई जांच रिपोर्ट के मुताबिक, विमान का पायलट अपने केबिन में स्मोकिंग कर रहा था जो कि हादसे की मुख्य वजह बना. बीते साल मार्च में यूएस-बांग्ला एयरलाइंस का विमान लैंडिंग के समय हादसे का शिकार हो गया था, इस हादसे में 51 लोगों को जान चली गई थी.

जांच रिपोर्ट के मुताबिक, यूएस-बांग्ला एयरलाइंस की नीति नो स्मोकिंग की रही है. इसके बावजूद फ्लाइट के पायलट इन कमांड ने उड़ान के वक्त स्मोकिंग की. ये खुलासा फ्लाइट के कॉकपिट वॉइस रिकॉर्डर से हुआ.

रिपोर्ट ने साफ किया कि मार्च 2018 को जो भी हादसा हुआ वह सिर्फ और सिर्फ क्रू की गलती के कारण ही हुआ था, अगर लापरवाही नहीं बरती गई होती शायद हादसा नहीं होता. इतना ही नहीं रिपोर्ट ने ना सिर्फ विमान के क्रू बल्कि त्रिभुवन एयरपोर्ट के कंट्रोल टावर को भी जिम्मेदार ठहराया.

हादसे के बाद आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी साफ हुआ था कि अधिकतर यात्रियों की मौत सिर पर लगी गहरी चोट के कारण हुई थी, जबकि कुछ यात्री जलकर मरे थे.

गौरतलब है कि 12 मार्च, 2018 को नेपाल की राजधानी काठमांडू के त्रिभुवन इंटरनेशनल एयरपोर्ट में यूएस-बांग्ला एयरलाइंस के साथ हादसा हुआ था. लैंडिंग के वक्त विमान में आग लग गई थी, जिसमें 51 लोगों की मौत हो गई.

बता दें कि प्लेन ने बांग्लादेश के ढाका से उड़ान भरी थी. प्लेन जब काठमांडू के एयरपोर्ट पर पहुंचा तो रनवे से बाहर चला गया और फुटबॉल मैदान में क्रैश हो गया. यूएस-बांग्ला एयरलाइन बांग्लादेश का निजी एयरलाइन है. इसकी शुरुआत 2013 में ही अमेरिका और बांग्लादेश के ज्वाइंट वेंचर के रूप में हुई थी.

विमान में जिन 51 लोगों की मौत हुई थी, उसमें चार विमान क्रू के सदस्य, 45 यात्री शामिल थे. जबकि दो अन्य लोगों की मौत बाद में अस्पताल में इलाज के दौरान हुई थी