IND vs AUS: मेलबर्न टेस्ट में अश्विन का खेलना तय नहीं, जडेजा भी फिट नहीं!

SHARES
Share on FacebookShareTweet on TwitterTweet

पर्थ टेस्ट गंवाकर टीम इंडिया बॉक्सिंग डे टेस्ट का इंतजार कर रही है. चार टेस्ट मैचों की सीरीज 1-1 से बराबर कर चुकी ऑस्ट्रेलियाई टीम विराट ब्रिगेड के लिए बड़ी चुनौती बन गई है. इस बीच कप्तान कोहली रविवार को मेलबर्न के यारा पार्क (Yarra Park) पहुंचे, जहां भारतीयों के समर फेस्टिवल की धूम है. इस दौरान दोनों कप्तानों (टिम पेन-विराट कोहली) ने बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के साथ पोज दिया. उधर, भारतीय टीम के लिए अच्छी खबर नहीं हैं. 26 दिसंबर को शुरू होने वाले बॉक्सिंग टेस्ट में रविचंद्रन अश्विन का खेलना तय नहीं है. पर्थ टेस्ट से पहले 32 साल के इस स्टार ऑफ स्पिनर के पेट के बाएं हिस्से की मांसपेशियों में खिंचाव आ गया था. वह अब भी इस परेशानी से जूझ रहे हैं.

अश्विन की गैरमौजूदगी में भारत ने पर्थ टेस्ट 146 रनों से गंवाया था. अश्विन ने इससे पहले एडिलेड टेस्ट में 6 (3+3) विकेट निकाले थे और भारत ने पहला टेस्ट 31 रनों से जीतकर सीरीज में 1-0 से बढ़त बनाई थी. कोच रवि शास्त्री के मुताबिक अगले 48 घंटे में तय हो पाएगा कि अश्विन तीसरे टेस्ट में खेल पाएंगे या नहीं. उधर, बाएं हाथ के स्पिनर ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा अश्विन का सबसे उपयुक्त विकल्प साबित हो सकते हैं. लेकिन, रिपोर्ट के मुताबिक बल्लेबाजों के अनुकूल एमसीजी में उनका भी खेलना निश्चित नहीं है.

कोच शास्त्री ने खुलासा किया कि ऑस्ट्रेलिया पहुंचने के कुछ समय बाद ही जडेजा को उनके कंधे में एक इंजेक्शन की जरूरत थी और टीम प्रबंधन ने उन्हें पर्थ में खेलने का जोखिम नहीं उठाने का विकल्प चुना था. शास्त्री ने संवाददाताओं से कहा, ' दूसरे टेस्ट से पहले  हमें लगा कि जडेजा लगभग 70-80 प्रतिशत ही फिट थे और हम पर्थ में जोखिम नहीं उठाना चाहते थे.' गौरतलब है कि पर्थ में भारत ने चार तेज गेंदबाज उतारे थे. एक भी विशेषज्ञ स्पिनर भारतीय टीम में नहीं था. दूसरी तरफ ऑस्ट्रेलिया ने मैन ऑफ द मैच रहे अपने स्पिनर नाथन लियोन की बदौलत पर्थ में जीत हासिल की थी.

उधर, भारतीय क्रिकेट टीम की नजर पहली बार बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच जीतकर सीरीज में फिर से बढ़त हासिल करने पर है. भारतीय टीम ने अब तक बॉक्सिंग डे यानी 26 दिसंबर से शुरू होने वाले 14 टेस्ट मैच खेले हैं, जिनमें से उसे केवल एक मैच में जीत मिली है और वह भी ऑस्ट्रेलिया में नहीं, बल्कि सुदूर दक्षिण अफ्रीका में. भारत के लिए बॉक्सिंग डे मैचों के परिणाम उत्साहजनक नहीं रहे हैं.